क्रेडिट कार्ड क्या होता है? इसके फ़ायदे और नुकसान क्या है – What is credit card in hindi

आप सभी ने कभी न कभी अपने जीवन में क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का नाम सुना ही होगा, आजकल बहुत से लोग क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल Online Shopping करने के लिए करते है। बहुत से लोग क्रेडिट कार्ड को डेबिट कार्ड या एटीएम कार्ड समझ लेते है पर ऐसा नहीं है। क्रेडिट कार्ड पूरी तरीके से डेबिट या एटीएम कार्ड से अलग होता है। मतलब होता तो वो कार्ड ही है पर उसका इस्तेमाल दूसरे तरीके से किया जाता है।

आज हम आपको क्रेडिट कार्ड से जुड़ी जानकारी देंगे। आसान भाषा में समझे तो क्रेडिट कार्ड एक तरह का उधार कार्ड होता। जिसमे बैंक के द्वारा एक लिमिट अमाउंट दिया जाता है। आप इन पैसों से खरीदारी जैसे अपने पर्सनल काम कर सकते हैं। और फिर हर महीने बैंक को आपको वो राशि चुकाना होता है।

और आप क्रेडिट कार्ड के द्वारा पैसे भी निकाल सकते हैं इस प्रकार से कोई भी व्यक्ति क्रेडिट कार्ड से विभिन्न प्रकार के फायदे ले सकता है. वर्तमान समय में लोग गूगल पर सर्च करते हैं कि क्रेडिट कार्ड क्या होता है। लेकिन उन्हें सही जानकारी प्राप्त नहीं होती है तो आइए जानते हैं इस लेख में क्रेडिट कार्ड (what is credit card in hindi) से जुड़ी सभी जानकारी विस्तार से तो हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

 

क्रेडिट कार्ड क्या होता है? (what is credit card in hindi)

credit card kya hota hai

क्रेडिट कार्ड (Credit Card) बैंको के द्वारा अपने ग्राहक को दिया जाने वाला एक कार्ड होता है। जिसमे बैंको के द्वारा एक Fixed Amount की राशि उस कार्ड में जारी की जाती है। जिसमे आपको अपने अनुसार किसी भी तरह के चीजों को खरीदने की अनुमति होती है। दरअसल ये एक तरह के उधार कार्ड होता है।

और जो भी लिमिट बैंक आपको उस क्रेडिट कार्ड में देती है वो आपके सैलरी या आपका बिजनेस के आकार के अनुरूप होता है। और जो भी पैसे आप अपने क्रेडिट कार्ड से खर्च करते है उसे बाद में आपको बैंक को चुकाना होता है। तो सीधा सीधा आप कह सकते है की क्रेडिट कार्ड के द्वारा बैंक ने आपको आपके फाइनेंसियल कंडीशन के अनुसार आपको एक लोन दिया है।

इस कार्ड का आकार रैक्टेंगुलर होता है यह प्लास्टिक का कार्ड होता है ठीक वैसे ही जैसे आपके डेबिट या एटीएम कार्ड होते है। इसके माध्यम से आप किसी भी तरह की Shopping, Bill Payment इत्यादि कर सकते हैं और उसका भुगतान आसानी से इसके द्वारा कर सकते हैं।

परंतु आपको इस बात का ध्यान रखना होता है कि जो बैंक का कंपनी आपके खाते में पैसे उधार दे रही है उसकी कुछ समय सीमा निर्धारित रहती है। उसी के आधार पर आपको पैसा वापस बैंक को जमा करना होता है नहीं तो आपके उसमें से ब्याज के साथ पेनाल्टी भी लगाई जाती है।

क्रेडिट कार्ड का उपयोग करना तो बहुत आसान है लेकिन इसमें कुछ बैंकों के द्वारा पॉलिसी रहती है आपके लेन-देन के हिसाब से क्रेडिट कार्ड की बैंक के द्वारा लिमिट बनाई जाती है। आप उस लिमिट के आधार पर अपने पैसे का उपयोग कर सकते हैं इसी को क्रेडिट कार्ड कहते हैं।

क्रेडिट कार्ड की शुरुआत कैसे हुई? (How did credit cards start)

क्रेडिट कार्ड की शुरुआत कैलिफोर्निया में साल 1958 में हुई थी. दुनिया के सबसे पहले क्रेडिट कार्ड को Visa कंपनी ने लांच किया गया था और वर्तमान समय में Visa कंपनी को बैंक ऑफ अमेरिका के नाम से जाना जाता है।

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि क्रेडिट कार्ड की शुरुआत एक एक्सपेरिमेंट के आधार पर की गई थी इस एक्सपेरिमेंट का नाम कंपनी ने दी ड्रॉप रख दिया था। इस कंपनी ने पोस्ट ऑफिस के डाक मैन के द्वारा कैलिफोर्निया में 60000 कार्ड भेजे थे ताकि वहां रह रहे लोगों कि इन कार्डो के द्वारा मदद की जा सके।

उन सभी लोगों की खाते में $5000 की क्रेडिट कार्ड लिमिट बना दी थी। कैलिफोर्निया में रहने वाले यह सभी लोग बिना बैंक तक जाए इन पैसों का आसानी से उपयोग कर सकते थे। इसके बाद से ही Bank of America को पता चल गया था कि एक्सपेरिमेंट सक्सेसफुल हो गया और फिर उन्होंने क्रेडिट कार्ड के उपयोग को और अच्छे से मार्केट में ले आए।

क्रेडिट कार्ड के फायदे क्या होते हैं? (Benefits of credit card)

आज के समय में क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने से ग्राहक को विभिन्न प्रकार के फायदे होते हैं आइए जानते हैं इन फायदों के बारे में।

  • क्रेडिट कार्ड के द्वारा आप कुछ भी सामान खरीद सकते हैं यदि आप नियमित खर्च करते हैं तब इस कार्ड का उपयोग आप आसानी से कर सकते हैं।
  • क्रेडिट कार्ड के द्वारा आप आसानी से ऑफलाइन, ऑनलाइन शॉपिंग भी कर सकते हैं।
  • कई Bank जो इंटरनेशनल बैंकिंग के द्वारा ऑर्गेनाइज करती है उनके कार्ड आप विदेश में भी उपयोग में ले सकते हैं।
  • क्रेडिट कार्ड की सबसे खास बात यह रहती है कि इस कार्ड का उपयोग आप तब भी कर सकते हैं तब आपके खाते में पैसे नहीं रहते हैं क्योंकि इस कार्ड के द्वारा आपके बैंक के द्वारा उधार पैसे दिए जाते हैं।
  • क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके सही समय पर यदि बैंक को आप पैसे को चुका देते हैं तो है बेहतरीन सुविधा है क्योंकि आप को जब भी जरूरत होती है आप इससे पैसे निकाल सकते हैं आपको किसी से भी पैसे मांगने की जरूरत नहीं है इससे आपको अपनी लिमिट बढ़ाने का भी सबसे ज्यादा फायदा मिलता है।

क्रेडिट कार्ड के नुकसान (Disadvantages of credit card)

  • क्रेडिट कार्ड उपयोग करने वाले अधिकतर लोग कैशबैक और रीवार्ड प्वाइंट्स के चक्कर में कुछ ऐसी चीजों को भी खरीद लेते हैं जिनकी उन्हें जरूरत भी नहीं होती है।
  • कुछ क्रेडिट कार्ड आपसे महीने का चार्ज लेते हैं और कुछ क्रेडिट कार्ड ऐसे होते हैं जिनके लिए आपको एनुअल चार्ज करना होता है। ऐसे में यदि आप खरीदारी करने के लिए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो आपको नुकसान हो सकता है।
  • यदि आप रेट कार्ड का उपयोग करते हैं और समय पर भुगतान नहीं कर पाते हैं तो कंपनियां आप से ब्याज के साथ पेनल्टी लगा कर पैसा लेती है।
  • यदि आप क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हुए लोन की राशि सही समय पर जमा नहीं करते तो आप के रिकॉर्ड को खराब समझा जा सकता है जैसे बैंक आपको दोबारा पैसा नहीं देती है।

क्रेडिट कार्ड के प्रकार (Types of Credit Card)

अभी तक आपने समझ लिया होगा कि क्रेडिट कार्ड क्या होता है इसके फायदे और नुकसान क्या होते हैं साथ ही इसके उपयोग क्या होते हैं इस बात की हमने आपको जानकारी दे दी है। अब आइए आगे जानते हैं कि क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार का होता है।

1 Shopping credit card
2 Student credit card
3 Fuel credit card
4 Premium credit card
5 Secured credit card
6 Entertainment credit card

क्रेडिट कार्ड कैसे बनता है? (Credit Card kaise banta hai)

आइए जानते हैं क्रेडिट कार्ड कैसे बनता है यदि कोई भी व्यक्ति क्रेडिट कार्ड बनवाना चाहता है तो उसे क्या क्या योग्यता होना चाहिए।

  • आवेदक को क्रेडिट कार्ड कार्ड बनवाने के लिए बैंक के रेगुलर ग्राहक की लिस्ट में होना चाहिए।
  • क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किसी भी व्यक्ति की उम्र लगभग 18 वर्ष से अधिक होना चाहिए यह बैंक के नियम के अंतर्गत आता है।
  • किसी भी व्यक्ति को क्रेडिट कार्ड बनवाने से पहले उसका बैंकिंग स्कोरकार्ड सही करना चाहिए।
  • क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, फोटो वाली आईडी आवश्यकता रहती है।

क्रेडिट कार्ड का उपयोग (Credit card usage)

  • क्रेडिट कार्ड के द्वारा आप घर बैठकर ऑनलाइन टिकट बुक कर सकते हैं।
  • क्रेडिट कार्ड मैं आपको पेंशन की सुविधा भी मिलती है।
  • क्रेडिट कार्ड का  उपयोग करके आप मार्केट से कोई भी इलेक्ट्रॉनिक सामान आसानी से खरीद सकते।
  • क्रेडिट कार्ड से आप चाहें तो ऑनलाइन किसी  वेबसाइट के माध्यम से खरीदी कर सकते हैं।
  • क्रेडिट कार्ड का उपयोग आप यदि विदेश जाते हैं तब भी कर सकते हैं।

FAQs – क्रेडिट कार्ड क्या होता है? (Credit card kya hota hai)

Q. क्रेडिट कार्ड क्या है?

Ans – क्रेडिट कार्ड एक प्रकार का फाइनेंसियल कार्ड है जिसे बैंक के द्वारा जारी किया जाता है।
जिसके द्वारा आप इमरजेंसी के समय आप इसकी मदद ले सकते हैं यह कार्ड बैंक के द्वारा आप को दिया जाता है। आपके फाइनेंसियल कंडीशन के अनुसार इसमें आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट अमाउंट रहती है।

Q.क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं?

Ans – क्रेडिट कार्ड चार प्रकार के होते हैं जैसे ट्रैवल क्रेडिट कार्ड, रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड, शॉपिंग क्रेडिट कार्ड, बिजनेस क्रेडिट कार्ड।

Q. क्रेडिट कार्ड के लिए कितनी सैलरी होनी चाहिए?

Ans – किसी भी व्यक्ति को अगर क्रेडिट कार्ड पानी है तो उसकी न्यूनतम सैलरी 15,000 मासिक होनी चाहिए। आज के समय में कुछ बैंक ऐसे भी हैं जो 10,000 रूपये की न्यूनतम मासिक वेतन पर भी क्रेडिट कार्ड प्रदान कर देते है।

Q. क्रेडिट कार्ड की लिमिट क्या होती है?

Ans – सामान्यतः एक क्रेडिट कार्ड पर 10,000 रूपये से लेकर कई लाखों रुपए तक की लिमिट बैंक के द्वारा दी जाती है। ज्यादा क्रेडिट लिमिट पाने के लिए बैंक अपने कस्टमर को कुछ मानदंड निर्धारित करता है। जैसे आपकी इनकम बहुत ही अधिक होनी चाहिए आपका बैंकिंग क्रेडिट स्कोर अच्छा होना चाहिए।

 निष्कर्ष –

आज के आर्टिकल क्रेडिट कार्ड क्या होता है (what is credit card in hindi) में आपने जाना की क्रेडिट कार्ड क्या होता है और इसका इस्तेमाल क्या है। इस आर्टिकल को आप अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ साथ सोशल मीडिया साइट्स पर भी जरूर शेयर करें, किसी भी प्रकार का सवाल, सुझाव के लिए आप कमेंट जरूर करें, धन्यवाद!