जेड प्लांट क्या है कैसे लगाए और इसके फायदे क्या है? (Jade Plant Benefits in Hindi)

हेलो दोस्त स्वागत है हमारे ब्लॉग पर आज की इस लेख में हम जानेंगे जेड प्लांट क्या है कैसे लगाए? (Jade plant benefits in hindi) हम सभी जानते है की परिश्रम का कोई शॉर्टकट नहीं होता है और हमें जो भी मिलता है जीवन में वो हमारे कर्मो का ही फल होता है।

फिर भी कई लोगो के घर में बहुत मेहनत करने के बाबजूद भी उनके घर में सुख, समृद्धि, आर्थिक तंगी और कई अनेक तरह के परेशानियों से घिरे रहते है। इनसे निवारण के लिए वास्तु शास्त्र में कुछ उपाय बताये गए है वास्तु शास्त्र में जेड प्लांट या क्रासला पौधे के बारे में चर्चा की गई है इन्हें मनी ट्री के नाम से भी जाना जाता है।

jade plant benefits in hindi

जेड पौधे (crassula ka paudha) का काफी महत्व है इसके बारे में ऐसा कहा जाता है कि घर में इसके पौधे लगाने से आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और घर का वातावरण हमेशा शुद्ध और स्वच्छ रहता है। तो आइये इस लेख Jade Plant क्या होता है और इसके लाभ क्या क्या होते हैं? (Crassula Jade plant benefits in hindi) के जरिये जानते है विस्तार से।

 

जेड या क्रासुला का पौधा क्या है? (Crassula plant in hindi)

Jade Plant अपने में छोटा और खूबसूरत पौधा होता है इसे Crassula Plant के नाम से भी जाना जाता है। जेड प्लांट मूल तौर पर दक्षिण अफ्रीका का पौधा है यहीं पर इसकी उत्पत्ति हुई थी और साथ में दुनिया के दूसरे देश में भी जेड प्लांट पाए जाते हैं इसकी औसतन ऊंचाई 5 से 8 तक होती है इसे मनी प्लांट के तौर पर भी जानते है।

इसके पौधे की सबसे बड़ी खासियत ये है की ये साल भर हरा-भरा ही आपको दिखाई पड़ेगा इसके पत्ते का रंग हरा और मिश्रित पीले होता है। अधिकांश लोग इस पौधे को अपने घर में सजावट के रूप में इस्तेमाल करते हैं वास्तु शास्त्र में इस पौधे के बारे में कहा जाता है कि अगर आप इसे अपने घर पर लगाएंगे।

तो आपके ऊपर माता लक्ष्मी की विशेष कृपा बनी रहेगी इसे धन का प्रतीक भी माना जाता है इसके पत्ते काफी मजबूत होते हैं इसके फूलों का रंग सफेद और गुलाबी रंग का होता है और इसके फूल बसंत ऋतु आने पर ही खिलते हैं जेड प्लांट का बोटैनिकल नाम Crassula ovata है।

 

जेड प्लांट के फायदे (Jade Plant Benefits in Hindi)

  • वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में अगर आप जेड प्लांट लगाते हैं तो आपके घर में सुख, समृद्धि आएगी।
  • जेड प्लांट का इस्तेमाल कई प्रकार के औषधियों को बनाने के लिए किया जाता है इसलिए इसे औषधि पौधा भी कहा जाता है।
  • आप अगर घर में इसे लगाएंगे तो आप के धन में वृद्धि होगी इसे धन का का प्रतीक भी कहा जाता है।
  • आपके घर में अगर कोई नकारात्मक ऊर्जा है तो उसे दूर करने के लिए आप अपने घर में जेड प्लांट लगा सकते हैं ये  घर में नकारात्मक ऊर्जा को निकालकर घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार करती है।
  • घर में अगर किसी प्रकार का भी वास्तु दोष है तो उसे दूर करने में जेड प्लांट महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है।
  • घर में अगर पति-पत्नी के बिच रिश्ते ठीक नहीं है और अगर आप इस पौधे को लगाते हैं तो आपके रिश्तो में सुधार देखने को मिलेगा।
  • अगर आप एक बिजनेसमैन है और अपने ऑफिस में जेड प्लांट लगाते हैं तो आपके बिजनेस में समृद्धि आएगी।

जेड प्लांट किस दिशा में लगाना चाहिए?

जेड प्लांट (Crassula Plant) को हमेशा घर के दाहिने दिशा में लगाना चाहिए इसकी प्रमुख वजह है कि इस दिशा से सूरज की रोशनी आती है और अगर सूरज की रोशनी इस पौधे को प्राप्त होगी तभी जाकर पौधा हमेशा हरा भरा रहेगा जिससे आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा।

जेड प्लांट / क्रासुला का पौधा कैसे लगाएं? (How to grow Jade plant in hindi)

जेड प्लांट को आप दो तरीके से लगा सकते हैं दोनों तरीकों को निचे विस्तारपूर्वक बताया गया है।

जेड प्लांट का पौधा व फायदे

कलम लगाकर पौधा तैयार करना –

इस प्रक्रिया में आपको जेड प्लांट की ऐसी डाली काटने होंगे जिस पर जो पत्ते होंगे वह काफी स्वस्थ होने चाहिए । इसके बाद आपको 5 से 6 इंची का एक कलम काटना होगा और उसे सूखने के लिए धूप में छोड़ दें अब आपको कलम के माध्यम से मिट्टी में एक उंगली तक गड्ढा का खुदा होना चाहिए।

जिससे उसमें कलम आसानी से डाला जा सके और जब आप कलम इसमें डाल देंगे तो उसे अच्छी तरह से मिट्टी से ढक दें थोड़ा मिट्टी डाल देंगे, फिर कुछ दिनों तक आप बिल्कुल पानी ना डालें पर आपको दिखाई पड़े की मिट्टी थोड़ी सुखी हो गई है।तभी कुछ भाग पानी डालेंगे। इसमें ध्यान देने वाली बात ये है की कलम का रोपण आप ऐसी जगह करेंगे जहां पर केवल दो-तीन घंटे ही धूप आती है बाकी समय छाव आती है ताकि कलाम का ग्रोथ हो सके।

पत्ती से नया पौधा बनाना –

इस विधि में आप जेड प्लांट पौधे से पत्ते ऐसे ढंग से तोड़ेंगे की पत्ते का डाली से लगा पतला भाग  ना टूटे। क्योंकि अगर आप गलत तरीके से पत्ते तोड़ते हैं तो उससे आप पौधा बना नहीं पाएंगे अब आपने पता तो लिया है अब आप इसे गमले में मिट्टी कि डालेंगे।

और साथ में उस पर पानी छोड़ देंगे। इसके बाद पति का 30% भाग मिट्टी में दबा देंगे, गमले में आप जब Leaf का रोपण करेंगे तो उनके बीच में एक निश्चित दूरी होनी चाहिए आप एक बार में तीन चार पौधा थोड़ी थोड़ी दूर में लगा देंगे। गमले में अधिक पानी ना दे, एक से दो हफ्ते मे जब पतियों से नए पौधे निकल आएंगे तो इन पौधों को निकाल कर दूसरे गमले में लगा देंगे।

Note – इन दोनों तरीको से जेड या क्रासला का पौधे को अपने घरो में लगाने के लिए आपको कई तरह के मिटटी का प्रयोग करना चाहिए। मिट्टी में आप बलुई, पथरीली मिटटी का उपयोग कर सकते है जिससे कि मिट्टी में पानी न रुके के। जिस गमले में आप इसके पौधे को लगा रहे है उसमे मिट्टी में साधारण मिट्टी, थोड़ा सा बलुई मिटटी और साथ ही खाद के रूप में गोबर की खाद या वर्मी कंपोस्ट इन सभी क मिक्स होना चाहिए।

Jade Plant की देखभाल कैसे करें?

  • जेड प्लांट के पौधे को Grow करने के लिए धूप की आवश्यकता होती है लेकिन आप इस बात का ध्यान रखेंगे कि आप कभी भी ऐसी जगह पौधे ना लगाएं जहां पर पूरा दिन धूप आती हो क्योंकि ऐसा अगर होता है तो इसके पौधे धूप से झुलस जाएंगे आप हमेशा ऐसी जगह ही पौधे का रोपण करें जहां पर दिन में 2 से 5 घंटे धूप आती हो।
  • इसके पौधे में ज्यादा पानी देने की जरूरत नहीं है हां अगर आपको लगे कि मिट्टी सूख गई है तो आप इस के जड़ों में पानी दे सकते हैं पर पत्तों पे नहीं क्योंकि पत्तों पर पानी देने से पत्तों पर रोग जैसी समस्या उत्पन्न हो जाएगी इसलिए आप पत्तों पर कभी भी पानी ना दें।
  • साल भर में एक या दो बार गमले की मिट्टी को बदल दे इसकी प्रमुख वजह है कि कई बार पौधे की विकास रुक जाती है इसकी वजह मिट्टी होती है इसलिए आप साल में एक, दो बार मिट्टी बदल सकते हैं ताकि पौधों का वृद्धि ना रुके
  • पौधों की वृद्धि के लिए आप पर्याप्त मात्रा में खाद का भी इस्तेमाल कर सकते है।

Jade Plant की छटाई कैसे करें?

जैसा कि आप लोग जानते हैं कि जब आप किसी भी पौधे का रोपण करते हैं तो कुछ समय बाद पर पत्ते और तने सिकुड़ जाते है। तो ऐसा ना हो इसके लिए उनकी छटाई करनी पड़ती है ताकि नए पत्ते और तने का विकास हो सके आप चाहें तो इन्हें बोन्साई (Bonsai) पेड़ों की तरह आकार देने के लिए भी काट सकते हैं। आप पौधों से क्षतिग्रस्त भागों को हटाने के लिए P Pruner का इस्तेमाल कर सकते है।

FAQs – (Jade Plant Benefits in Hindi)

Q. जेड प्लांट का हिंदी नाम क्या है?

Ans – जेड प्लांट को हिंदी में क्रासुला कहा जाता है।

Q. जेड प्लांट को कितनी रोशनी की जरूरत है?

Ans – जेड या क्रासुला पौधे को पूरी तरह से विकसित होने के लिए सूर्य की रोशनी की जरुरत होती है आप प्रतिदिन 4 से 5 घंटे इसे धुप में रहने दें।

Q. जेड प्लांट घर में कहाँ लगाना चाहिए?

Ans – अपने घर में जेड का पौधा रखने के लिए मुख्य द्वार सबसे अच्छा और प्रभावी स्थान है। ऐसा माना जाता है की मुख्य द्वार पर इसे रखने से धन और सौभाग्य की प्राप्ति होती है। और साथ ही आपका घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। फेंगशुई के अनुसार जेड प्लांट को घर के अंदर, दक्षिण-पूर्व दिशा में रखनी चाहिए साथ ही आप चाहे तो इसे लिविंग रूम में भी रख सकते है।

Q. जेड प्लांट लगाने से क्या फायदा होता है?

Ans – इसके बारे में ऐसी मान्यता है की इसे प्रवेश द्वार पर रखने से धन्य और सौभाग्य हमारी ओर आकर्षित होता है। जिससे पॉजिटिव एनर्जी मिलती है। फेंगशुई के अनुसार, जेड प्लांट (Jade Plant) को अगर घर के अंदर, विशेष रूप से अपने लिविंग रूम में दक्षिण-पूर्व दिशा में रखने से भाग्य और धन हमारी ओर आकर्षित होता है। ऐसा इसलिए कहा जाता है की शुक्र ग्रह दक्षिण-पूर्व दिशा का स्वामी है और धन वृद्धि करता है।

निष्कर्ष –

उम्मीद करता हूँ आपको ये लेख Jade Plant क्या होता है और इसके लाभ क्या क्या होते हैं? (Crassula Jade plant benefits in hindi) अच्छा और ज्ञानवर्धक लगा होगा आप इस लेख के माध्यम से जेड प्लांट के बारे में अच्छे से जान गए होंगे। आप इस लेख को अपने दोस्तों के साथ साथ सोशल मीडिया साइट्स पर भी जरूर शेयर करें, किसी भी प्रकार का सवाल, सुझाव के लिए आप कमेंट जरूर करें, धन्यवाद!