कौन हैं के.के. वेणुगोपाल,Who are K.K. Venugopal

 भारत के लिए अटॉर्नी जनरल भारत सरकार का मुख्य कानूनी सलाहकार है, और भारत के सुप्रीम कोर्ट में प्राथमिक वकील है। उन्हें सरकार के पक्ष से वकील कहा जा सकता है। उन्हें संविधान के अनुच्छेद 76 (1) के तहत भारत के राष्ट्रपति द्वारा नियुक्त किया जाता है | वेणुगोपाल हमारे 15 वें अटार्नी जनरल हैं

 उस समय भारत के राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने उन्हें नियुक्त किया था। उन्हें 30 जून 2017  से औपचारिक रूप से नियुक्त किया गया था और उनके पास 3 साल का कार्यकाल होगा

जीवन

वेणुगोपाल का जन्म 1931 में केरल में हुआ था. कर्नाटक के मेंगलोर पले बढ़े. उन्होंने बेलगाम के राजा लखामगौडा लॉ कॉलेज से कानून की पढ़ाई की. उनके पिता एमके नाम्बियार भी वकील थे. वेणुगोपाल के दो बेटे और एक बेटी हैं . 86 साल के वेणुगोपाल ने 1954 में मैसूर हाईकोर्ट के बार में रजिस्ट्रेशन कराया था. बाद में मद्रास हाईकोर्ट में अपने पिता एमके नाम्बियार के अंडर में प्रेक्टिस शुरू की. 1960 में सुप्रीम कोर्ट में वकालत शुरू की.

कर चुके हैं आडवाणी-जोशी की पैरवी

वेणुगोपाल हाल ही में वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और अन्य की ओर से भी इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ में पेश हुए थे. मामले में कोर्ट ने आरोपियों पर आपराधिक साजिश के आरोप बहाल कर ट्रायल को 2 साल में पूरा करने का आदेश दिया है. वेणुगोपाल कई सरकारों का भी कोर्ट में प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. टू-जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाले में वह सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए थे.

बीजेपी सरकार के साथ उनका जुड़ाव अयोध्या आंदोलन के समय से है. वह यूपी की कल्याण सिंह सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए थे. उन्होंने आश्वासन दिया था कि विवादित ढांचे की रक्षा की जाएगी. हालांकि 6 दिसंबर, 1992 को कारसेवकों ने ढांचे को ढहा दिया. बाद में वह तत्कालीन चीफ जस्टिस एमएन वेंकटचलैया के घर पर शाम को बैठी पीठ के सामने पेश हुए थे. वेणुगोपाल को भूटान सरकार ने संवैधानिक सलाहाकर नियुक्त किया था. उन्होंने भूटान का संविधान बनाने में रोल निभाया.


Rajesh Sharma

Blogger, Researcher, Author

रिप्लाई (रिप्लाई) दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: